पद्मावती विवाद: भंसाली पर दर्ज हो राजद्रोह का मुकदमा- सेंसर बोर्ड के सदस्य

0 203

पद्मावती को लेकर संजय लीला भंसाली की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. फिल्म पद्मावती के विरोध में कई राजानीतिक दल शामिल हो चुके हैं. गुरुवार को सेंसर बोर्ड के एक सदस्य ने गृहमंत्री को चिट्ठी लिखकर फिल्म के कंटेंट पर आपत्ति जताई है.

सूत्रों के मुताबिक सेंसर बोर्ड के सदस्य अर्जुन गुप्ता ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर भंसाली पर देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की. चिट्ठी में उन्होंने मेकर्स पर रानी की छवि खराब करने का आरोप लगाया है. राजस्थान के कई पूर्व राजघरानों ने भी फिल्म के कंटेंट पर आपत्ति जताई है.

हालांकि भंसाली ने वीडियो रिलीज कर पद्मावती पर सफाई दी है. उन्होंने कहा कि फिल्म में पद्मावती और अलाउद्दीन के बीच कोई रोमांटिक सीन नहीं है. बता दें कि करणी सेना, बीजेपी और कांग्रेस जैसे दलों ने भी रिलीज से पहले राजपूत समाज के प्रतिनिधियों को पद्मावती दिखाने की मांग की है.Image result for पद्मावती विवाद

पद्मावती पर बवाल जारी, भंसाली के दफ्तर के बाहर 24 घंटे पुलिस का पहरा

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी ने निर्वाचन आयोग, केंद्र सरकार और सेंसर बोर्ड को चिट्ठी लिखकर पद्मावती के रिलीज को रोकने की मांग की थी. गुरुवार को पद्मावाती को लेकर जारी विवाद पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उन्होंने फिल्म नहीं देखी है लिहाजा वो इस पर कोई कमेंट नहीं करना चाहती हैं.

स्मृति ईरानी का यूटर्न

स्मृति ने अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पद्मावती विवाद पर कहा, ‘मुझे इस संदर्भ में कुछ भी नहीं बोलना है. जिस स्टोरी और कहानी के बारे में जाना नहीं, देखा नहीं है और पढ़ा नहीं है, उसके बारे में कुछ भी नहीं कहना चाहती हूं.’ बता दें कि कुछ समय पहले स्मृति ईरानी ने कहा था कि पद्मावती की रिलीज को लेकर कोई समस्या नहीं आएगी. सरकार कानून व्यवस्था का ध्यान रखेगी. लेकिन अब गुजरात चुनावों को देखते हुए स्मृति ईरानी ने फिल्म पर यू-टर्न ले लिया है.

चुनाव आयोग ने खारिज की मांग

चुनाव आयोग ने भाजपा की उस मांग को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि गुजरात में विधानसभा चुनाव के चलते फिल्म पद्मावती की रिलीज पर रोक लगाई जाए या इसे आगे बढाया जाए.

गुजरात के प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष आईके जडेजा ने मीडिया को बताया था कि गुजरात के 15-16 जिलों के राजपूत समाज ने पार्टी से इस फिल्म को बैन कराए जाने की मांग की थी. उनका तर्क था कि फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है, जिससे राजपूत समाज की भावनाओं को ठेस पहुंची है. इसलिए उन्होंने फिल्म पर बैन की मांग की. ये फिल्म एक दिसंबर को रिलीज हो रही है.

बॉलीवुड भंसाली के सपोर्ट में 

बॉलीवुड भंसाली के सपोर्ट में है. अर्जुन कपूर ने ट्वीट कर कहा- एक बार फिर एक शख्स को अपनी रचनात्मकता सिद्ध करनी पड़ रही है क्योंकि राजनीति माहौल को गंदा बना देती है. वो एक शानदार फिल्ममेकर हैं. उनकी सोच पर विश्वास करना चाहिए. मुझे यकीन है कि रानी पद्मावती की कहानी सम्मानित तरीके से दिखाई जाएगी.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami