प्रद्युम्न मर्डर केस: कंडक्टर अशोक की पत्नी ने सुनाई आपबीती

0 55
गुड़गांव। गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के स्टूडेंट प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर केस में ठीक दो महीने बाद नया मोड़ आ गया है। इस मामले में सीबीआई ने बुधवार को बताया कि स्कूल के 11वीं के स्टूडेंट को हिरासत में लिया गया है। सीबीआई के मुताबिक, आरोपी स्टूडेंट ने पेरेंट्स-टीचर मीटिंग (पीटीएम) और एग्जाम टालने के लिए यह मर्डर किया था। हरियाणा पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को मर्डर केस का मुख्य आरोपी बनाया था।

कंडक्टर अशोक की पत्नी ने सुनाई आपबीती, रो-रोकर मनाई थी बच्चों ने दिवाली

– यह खबर मिलने के बाद अशोक की पत्नी ममता ने रोते हुए कहा कि मेरे अशोक ने कुछ नहीं किया। पुलिस ने मारपीट कर उसे आरोपी बनाया है।
– पुलिस ने झूठा केस बनाकर अशोक को फंसाया है। सीबीआई सही जांच कर रही है। ममता ने कहा कि मैं जेल में भी अपने पति से मिली, उन्होंने कहा कि वे निर्दोष हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन ही पूरी तरह से मामले में जिम्मेदार है।
हाथ जोड़कर कहा बच्चे पढ़ाने के लिए पैसे नहीं है, तो स्कूल वालों ने मुफ्त में पढ़ाया
– ममता ने बताया कि पति के जेल चले जाने के बाद उनके पास बच्चे पढ़ाने के लिए भी पैसे नहीं थे। वह स्कूल में गई और हाथ जोड़कर कहा कि उसके पास बच्चे पढ़ाने के लिए पैसे नहीं है।
– इस पर स्कूल मालिक ने बच्चों को बिना फीस पढ़ाने की बात कही। इसके बाद अशोक के दो बेटे रोहन (10) और केशव (8) पढ़े सके।
रो-रोकर मनाई दीपावली
– ममता ने बताया कि उन्होंने रो-रोकर दीपावली मनाई।
– पति के जेल चले जाने के बाद घर का खर्च उसकी ननद ने चलाया। उसका कहना है कि इस घटना के बाद पूरे गांव ने उसका साथ दिया।
– गांव का एक-एक आदमी यही कह रहा था कि अशोक ऐसा नहीं कर सकता। हर दिन लोग उसके पक्ष में सहानुभूति देने आए।
गांव वाले भी नाराज
– इस पूरे घटनाक्रम के बाद गांव वाले भी नाराज हैं। गांववालों का कहना है कि अशोक बिल्कुल निर्दोष है, उसने आज तक गांव में कोई क्राइम नहीं किया।
–  गांव का एक-एक आदमी यही कह रहा था कि अशोक ऐसा नहीं कर सकता। हर दिन लोग उसके पक्ष में सहानुभूति देने आए।
– उनका कहना है कि पुलिस ने फर्जी तरीके से चाकू दिखाकर अशोक को फंसाया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami